शनिवार, 24 जून 2006

अलग पहचान

आज उसकी बातों से
फिर काँपा था मन,
जब से पत्र पढ़ा है
मन कहीं नहीं ठहरा।
क्या जबाब दूँ उसके
सवालों का?
कैसे समझाऊँ उसे
कि उतना ही व्यथित मैं हूँ!
क्या करूँ मैं ऐसा
जिससे वो अतरंगित हो जाये!
कुछ नहीं कर सकता मैं
ऐसा लगता है
कि बस
दरिया के किनारे खड़ा होकर
लहरों का हलचल देख सकता हूँ।
बस देख रहा हूँ कि
वे अब द्वीप पर चमकते पत्थरों
को अपने रंग में रंग रही हैं।
देख सकता हूँ बस इतना कि
रेतों पर पड़ी कश्तियों को भी
अपने में समाहित कर रही हैं।
लेकिन मैं कैसे कह सकता हूँ
कि मैं यह सब देख रहा हूँ?
अरे! उसे समझना चाहिए
पानी सर के ऊपर आ चुका है।
बस मैं निकलने के लिए
हाथ पैर मार रहा हूँ।
निकल नहीं पाऊँगा
इसलिए
सुनी-सुनायी बातें बताकर,
सुनाकर,
अपने में सिमटकर,
भय को भगा रहा हूँ।
कैसे बताऊँ उसे
मैं भी तो डर गया हूँ,
या यह कहूँ कि मर गया हूँ।
अरे, इतिहास तो मैंने भी पढ़ा था
हाँ, कुछ वैसा ही मैंने भी अनुभव किया था।
अपने से ही मैंने भी पूछा था
"क्या मैं नया भारत देख पाऊँगा?"
तब से बस इंतज़ार ही कर रहा हूँ।
यह सत्य है कि मैं खुद
कुछ नहीं कर रहा हूँ।
बस सोचे जा रहा हूँ
कि सबसे अलग एक पहचान बनाऊँगा।
बना भी लिया है
तभी तो दुनिया कहती है
न जाने कब से
'इसने' अपने मताधिकार का प्रयोग नहीं किया
और कहता है
मरते दम तक शायद
यह उससे नहीं हो पायेगा।

(अपने प्रिय मित्र मनीष 'वंदेमातरम्' का पत्र पाने के बाद)

लेखन तिथिः १४ फरवरी २००४ तद्‌नुसार विक्रम संवत् २०६० फाल्गुन कृष्ण पक्ष की नवमी।

7 टिप्‍पणियां:

SHUAIB ने कहा…

ये भी ठीक है।

Nysh ने कहा…

आप क्या बकवास लिखते है। शब्दों का जाल है पर जाल में क्या है भगवान ही जाने। जरा एक नजर हमारी नज्मों पर भी डालें।
बुरा ना मानीयेगा हमारी बातों का।

निशान्त
http://nysh.blogspot.com

mahashakti ने कहा…

बकवास क्‍या होता है ये तो राम जाने। आप लिखते रहो लिखना लिखना होता है। कई कवि एसे है पता नही क्‍या क्‍या लिखते है जैसे कि हुसैन की पेन्टिग। क्‍या बनाते है पता नही पर फेमस है

बेनामी ने कहा…

hmm yes yaar its very nice very good poetries.u shd write more ok .all the best frm me to u.may u reach the highest heights.


wid love
Diana

बेनामी ने कहा…

Very nice site! »

बेनामी ने कहा…

Wonderful and informative web site. I used information from that site its great. pay per click advertising clinton cosmetic dentistry adipex ionamin phentermine

बेनामी ने कहा…

No deposit bonuses - POKER money bankrolls
all possible no deposit bonuses starting bankrolls for free Good luck at the tables.

Donald Duck